azlyrics.biz
a b c d e f g h i j k l m n o p q r s t u v w x y z 0 1 2 3 4 5 6 7 8 9 #

armaan malik – badnaamiyan lyrics

Loading...

ज़िन्दगानी के लम्हों को तेरे नाम कर दिया
ज़िन्दगानी के लम्हों को तेरे नाम कर दिया
खुदको तेरी ही खातिर बदनाम कर दिया

बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी
बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी

ज़िन्दगानी के लम्हों को तेरे नाम कर दिया
ज़िन्दगानी के लम्हों को तेरे नाम कर दिया
खुदको तेरी ही खातिर बदनाम कर दिया

बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी
बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी

हर पल ये दिल याद तुझे करता रहता है
हर पल तेरे सपने ये देखा करता है
माना तुमने रास्ते अपने बदल दिये
ये बेचारा बीते कल में ही रहता है

आखरी साँस को भी तेरे नाम कर दिया
आखरी साँस को भी तेरे नाम कर दिया
खुदको तेरे ही खातिर नाकाम कर दिया

बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी
बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी

मैं तेरी आँखों में देखता हूँ खुदको
मैं तेरी आँखों में देखता हूँ खुदको
तुम को क्या दिखता है, मेरी नज़रों में कहो

देखते चाहते, सुबह को शाम कर दिया
देखते चाहते, सुबह को शाम कर दिया
खुदको तेरी ही खातिर कुर्बां कर दिया

बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी
बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी

ज़िन्दगानी के लम्हों को तेरे नाम कर दिया
ज़िन्दगानी के लम्हों को तेरे नाम कर दिया
खुदको तेरी ही खातिर बदनाम कर दिया

बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी
बदनामियाँ मिली, तन्हाइयाँ बढ़ी